बिजनौर: रोड का उद्घाटन करने विधायक ने पटका नारियल, नहीं फूटा नारियल-टूट गई सड़क

विशेष संवाददाता बिजनौर: बिजनौर जिले (Bijnor) में कुछ अफसर और ठेकेदार बीजेपी के नारे ‘सोच ईमानदार काम दमदार’ को पलीता लगा रहे हैं. यहां सिंचाई विभाग में हो रहे भ्रष्टाचार की पोल उस समय खुल गयी, जब नवनिर्मित सड़क का शुभारंभ करने पहुंची बीजेपी विधायक सुचि चौधरी ने सड़क पर नारियल तोड़ना चाहा. इस दौरान नारियल तो टूटा नहीं, लेकिन सड़क जरूर टूट गयी. यह देखकर विधायक नाराज हो गयीं. विधायक और उनके समर्थकों ने सिचांई विभाग के खिलाफ जमकर हंगामा किया और धरने पर बैठ गयीं. इस पर रात में ही PWD के अफसरों ने सड़क की सैंपलिंग की, तब जाकर विधायक ने धरना समाप्त किया.
कहां का है पूरा मामला?
मामला हलदौर थाना क्षेत्र के गांव खेड़ा अजीजपुरा का है. दरअसल, बिजनौर सदर विधायक सुचि चौधरी (MLA Suchi Chaudhary) के विधानसभा इलाके में सिंचाई खंड विभाग द्वारा एक करोड़ 16 लाख 38 हजार की लागत से नहर की पटरी पर 7.5 किलोमीटर लंबी सड़क बनाई जा रही है. सड़क का कार्य महज 700 मीटर ही पूरा हुआ था. सड़क का शुभारंभ कराने के उद्देश्य से सिंचाई विभाग के अफसरों ने सदर विधायक सुचि चौधरी को बुलाया. इस पर विधायक अपने लाव-लश्कर के साथ सड़क का शुभारंभ करने मौके पर पहुंच गई.
सड़क टूटने पर आग बबूला हुईं विधायक
शुभारंभ के लिए जैसे ही विधायक ने सड़क पर नारियल पटका तो उसके टूटने की जगह सड़क ही टूट गई. नारियल से सड़क टूटने के बाद विधायक आग बबूला हो गईं. विभाग के कर्मचारियों पर घटिया सामग्री लगाने व घोटाले का आरोप लगाते हुए वहीं धरने पर बैठ गईं. इस सूचना पर बिजनौर प्रशासन में हड़कंप मच गया. डीएम बिजनौर ने तत्काल एक जांच टीम गठित की और विधायक को अच्छी सामग्री लगाकर सड़क का निर्माण कार्य कराने का आश्वासन दिया.
विधायक ने की कार्रवाई की मांग
फिलहाल बिजनौर जिला अधिकारी उमेश कुमार द्वारा गठित की गई टीम मामले में जांच कर रही है.वहीं, विधायक सुचि चौधरी ने सिंचाई विभाग के जेई, एसडीओ और अधिशासी अभियंता पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि इन अफसरों की मिली भगत से ही सड़क निर्माण में घोटाला किया जा रहा है. विधायक ने घोटाले में शामिल सभी लोगों पर उचित कार्रवाई की मांग की है. इस मामले में सिंचाई विभाग मीडिया के सामने कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है.

बिना टीकाकरण के सार्वजनिक स्थानों पर नहीं कर सकेंगे प्रवेश, जानें कब से लागू होगा नियम

सिमरन खान विशेष संवाददाता दिल्ली: राजधानी में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की आहट से दिल्ली सतर्क है। इसको लेकर दिल्ली सरकार ने सावर्जनकि स्थानों पर प्रवेश के लिए कम से कम वैक्सीन की एक डोज को अनिवार्य कर सकती है।
अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि दिल्ली सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर प्रवेश के लिए 15 दिसंबर तक डीडीएमए को एंटी-कोविड वैक्सीन की पहली खुराक अनिवार्य करने का प्रस्ताव दे सकती है। लोगों को नकद पुरस्कार, छूट और लॉटरी के साथ प्रोत्साहित करने के लिए प्रोत्साहन कर सकती है।
अधिकारियों ने कहा कि यह भी प्रस्तावित किया जा सकता है कि अगले साल 31 मार्च तक पूरी तरह से टीका लगवाने को मॉल और मेट्रो स्टेशनों जैसे सार्वजनिक स्थानों पर प्रवेश के लिए अनिवार्य कर दिया जाय।
अधिकारियों के मुताबिक, सार्वजनिक स्थानों पर उन्हीं लोगों को प्रवेश की अनुमति मिलेगी, जो कम से कम वैक्सीन की एक डोज ले चुके हैं। इसके लिए दिल्ली सरकार ‘नो वैक्सीन नो एंट्री’ का प्रस्ताव डीडीएमए को प्रस्ताव दे सकती है।

अधिकारियों का कहना है कि अगले साल 31 मार्च तक शॉपिंग मॉल और मेट्रो स्टेशन सहित सार्वजनिक स्थानों पर टीकाकरण किया जाएगा। यूरोपीय देशों के उदाहरण देते हुए कहा कि वैक्सीन परिवहन प्रणाली को अपनाया जा रहा है ताकि दिल्ली की सभी व्यस्क आबादी टीकाकरण पूरा कर सके। अधिकारियों ने यह भी कहा कि अमेरिका, फिलीपींस, मॉस्को और मैक्सिको जैसे देशों ने टीकाकरण को प्रोत्साहन दिया है।

इससे पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बीते मंगलवार को कहा था कि दिल्ली के 97 फीसदी लोगों को वैक्सीन की पहली खुराक मिल गई है और 57 फीसदी पूरी तरह से टीका लग चुके हैं। सरकार इन आंकड़ों को बेहतर मान रही है और साथ ही दूसरी खुराक का टीकाकरण पूरा करने के लिए प्रयास जारी रखने के लिए कार्य भी कर रही है।

फर्रुखाबाद जेल में कैदी हुए हमलावर: मेन गेट पर कब्जा कर परिसर में लगाई आग, पुलिस पर पथराव

*सिमरन खान विशेष संवाददाता
उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद की एक जेल में आज सुबह कैदियों ने हमला बोल दिया. इन बंदियों ने जेल अधीक्षक और डिप्टी जेलर पर हमला करने के साथ पथराव किया और जेल में आग लगा दी. आग लगने की वजह से जेल में अलार्म बजा दिया गया और जेल परिसर में हड़कंप मच गया. इस दौरान पुलिस को बचाव के लिए फायरिंग करनी पड़ी.

दिल्ली: बढ़ते डेंगू के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने बुलाई बैठक, बोले- केंद्र सरकार मदद के लिए भेजेगी टीम

*सिमरन खान विशेष संवाददाता दिल्ली*
राजधानी दिल्ली में कोरोना मरीजों की संख्या में भले ही कमी आ रही हो लेकिन डेंगू का कहर बढ़ता ही जा रहा है। इसके मद्देनजर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने सोमवार को डेंगू की स्थिति की समीक्षा करने के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक की। इसमें स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ ही दिल्ली सरकार के अधिकारी भी शामिल हुए। बैठक के दौरान, स्वास्थ्य मंत्री ने इस बात पर भी चर्चा की कि केंद्र डेंगू मामलों में वृद्धि को रोकने में कैसे दिल्ली सरकार की मदद कर सकता है।
उन्होंने कहा कि इसकी रोकथाम के लिए जमीनी स्तर पर काम करने की जरूरत है। इसके लिए हॉटस्पॉट इलाकों को चिन्हित करना, फॉगिंग और समय रहते उपचार उपलब्ध कराने का काम किया जा रहा है। दिल्ली समेत अन्य राज्य जहां डेंगू के मामले बढ़ते जा रहे हैं, वहां केंद्र सरकार अपनी टीम भेज रही
कोरोना के एक तिहाई बिस्तर डेंगू मरीजों के लिए आरक्षित
दिल्ली में डेंगू के मामले इतनी तेजी से बढ़ रहे हैं कि सरकारी अस्पतालों में कोरोना के एक तिहाई बिस्तरों को डेंगू, मलेरिया सहित मौसमी बीमारियों से ग्रस्त मरीजों के लिए आरक्षित किया जा चुका है। रविवार को दिल्ली सरकार ने सभी अस्पतालों के निदेशक और चिकित्सा अधीक्षकों को निर्देश जारी करते हुए कहा है कि कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित एक तिहाई बिस्तरों का इस्तेमाल डेंगू, मलेरिया व चिकनगुनिया जैसी बीमारियों के इलाज में किया जाएगा।

*डेंगू से लड़ने के लिए तैयार है दिल्ली सरकार: सत्येंद्र जैन*
स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने यह जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना मरीजों की संख्या में कमी आई है। इसलिए अस्पतालों में आरक्षित बिस्तरों को डेंगू व अन्य बीमारियों से ग्रस्त मरीजों के लिए रखे गए हैं। उन्होंने कहा कि सभी अस्पतालों में डेंगू के इलाज के लिए सभी तैयारियां पूरी की हैं।

युवा नेते संतोष कलाटे, यांची भाजपा महाराष्ट्र प्रदेश कार्यकारिणीच्या निमंत्रित सदस्यपदी व चिंचवड विधानसभा मतदारसंघाच्या प्रभारी पदी निवड

संवाददाता, तानाजी केदारी, महाराष्ट्र राज्य प्रमुख.
दिनांक.३१.१०.२०२१.
उद्योगनगरीतील व वाकडं भागातील सामाजिक सांस्कृतिक व राजकीय क्षेत्रातील युवा उद्योजक संतोष गुलाबराव कलाटे, यांची भारतीय जनता पार्टी महाराष्ट्र प्रदेश कार्यकारिणीच्या निमंत्रित सदस्यपदी व चिंचवड विधानसभा मतदारसंघाच्या प्रभारी पदी निवड करण्यात आली आहे. सदर निवडीचे पत्र प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटील, यांच्या हस्ते संतोष गुलाबराव कलाटे, यांना देण्यात आले आहे यावेळी पक्ष कार्य वाढविण्याकरिता व त्यांच्या समाजकारण व पक्षाकरिता केलेल्या कार्याचा प्रदीर्घ अनुभव लक्षात घेता त्याचे नियुक्ती पत्र व पुष्पगुच्छ देऊन प्रदेशाध्यक्ष मा. चंद्रकांत पाटील, यांनी त्यांचा सत्कार केला.

किसान आंदोलन: गाजीपुर बॉर्डर से बैरिकेड हटाने के बाद आज भी सुचारू नहीं हुआ ट्रैफिक, किसान और यूपी पुलिस हैं वजह

सिमरन खान विशेष संवाददाता दिल्ली
यूपी गेट पर दिल्ली पुलिस द्वारा बैरिकेडिंग हटाने के बाद टी सेकेंड ने निरीक्षण किया।
कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की तमाम सीमाओं पर देशभर से आए किसान बीते 11 महीने से प्रदर्शन कर रहे हैं। बीते हफ्ते सड़क खाली करने को लेकर दिए गए सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद जहां किसानों ने कहा कि रास्ते उन्होंने नहीं बल्कि पुलिस ने बंद कर रखे हैं। वहीं दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को गाजीपुर बॉर्डर और टीकरी बॉर्डर पर लगी बैरिकेडिंग को हटा दिया।
हालांकि इसके बाद भी शनिवार को गाजीपुर बॉर्डर से ट्रैफिक सुचारू रूप से नहीं चल सका। इसकी वजह है कि अभी भी किसानों ने मेन रोड पर टेंट लगाए हुए हैं और दूसरी तरफ यूपी पुलिस ने खोड़ा कॉलोनी के पास बैरिकेडिंग की हुई है। यही वजहें हैं कि आज भी गाजीपुर बॉर्डर से ट्रैफिक सही से नहीं चल सका।
हालांकि इसके बाद भी शनिवार को गाजीपुर बॉर्डर से ट्रैफिक सुचारू रूप से नहीं चल सका। इसकी वजह है कि अभी भी किसानों ने मेन रोड पर टेंट लगाए हुए हैं और दूसरी तरफ यूपी पुलिस ने खोड़ा कॉलोनी के पास बैरिकेडिंग की हुई है। यही वजहें हैं कि आज भी गाजीपुर बॉर्डर से ट्रैफिक सही से नहीं चल सका।

करोना पेशंटचा जाती धर्मानुसार युनूस पठाण यांच्या हस्ते अंत्य विधी करण्यात आले

ब्रिजेश बडगुजर कार्यकारी संपादक “राष्ट्रवादी काँग्रेस पार्टी सफाई कामगार सेल” प्रदेश सचिव युनूस पठाण प्रभाग क्रमांक 23 धनगर बाबा मंदिराचे मागे शिवशक्ती कॉलनी मधील अमित वाघमारे यांच्या आईचा डी वाय पाटील हॉस्पिटल मधील करोना पॉझिटिव मृत्यू झाला,त्यावेळी रात्री १:०० अमित वाघमारे यांचा युनूस पठाण यांना फोन आला त्यावेळी युनूस पठाण ते डी.वाय. पाटील हॉस्पिटल मध्ये […]